साबुन बनाने के बिजनेस को कैसे शुरू करें | Soap Manufacturing Business in Hindi

Soap Manufacturing Business : साबुन बनाने के लिए जरूरी कच्चा माल, जरूरी मशीनें, रजिस्ट्रेशन तथा लाइसेंस

हेलो दोस्तों, आज हम बात करेंगे Soap Manufacturing Business के बारे में। साबुन बनाने के बिजनेस को कैसे शुरू करें..? यदि आप अपने इस प्रश्न के उत्तर को जानना चाहते हैं तो आज का यह लेख आपके लिए काफी मददगार हैं। साबुन आज के दौर में इस्तेमाल होने वाली उन जरूरी वस्तुओं में से एक है जिसका उपयोग हर एक उम्र का व्यक्ति करता है और यही कारण है कि आज साबुन की बढ़ती हुई मांग के कारण यह एक बेहतर और लाभदायक कारोबार के रूप में साबित हो रहा है।

तो यदि आप भी किसी बिजनेस को शुरू करना चाहते हैं तो साबुन बनाने का बिजनेस बहुत ही श्रेष्ठ बिजनेस है यदि आप जानना चाहते हैं कि साबुन बनाने के बिजनेस की शुरुआत कैसे करें? तो इस बिजनेस की संपूर्ण जानकारी हमने आज के लेख में बता रखी है तो चलिए जानते हैं कि साबुन के बिजनेस को कैसे शुरू करें?

साबुन बनाने का बिजनेस क्या हैं?

साबुन बनाने का बिजनेस भारत के साथ ही साथ पूरे विश्व के विभिन्न देशों में एक बहुत ही बड़ा बिजनेस है तथा भारत देश में तो यह बिजनेस सालों से होता आ रहा है। भारत में साबुन को हाथ से तथा मशीनों दोनों की ही मदद से निर्मित किया जाता है वर्तमान में साबुन हमारे दैनिक जीवन में रोजाना इस्तेमाल किया जाने वाला पदार्थ है जिसका उपयोग लोगों द्वारा विभिन्न तरीकों जैसे कपड़े धोने, हाथ धोने, बर्तन धोने इत्यादि कामों में किया जाता है तो इस तरह व्यवसायिक तथा आवासीय उपयोग के लिए साबुन की मांग बहुत ज्यादा है जो भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के लिए ही एक बहुत ही लाभदायक बिजनेस के रूप में साबित हो रहा है

साबुन बनाने का बिजनेस लघु उद्योग शुरू करने वाले उन सभी ही छोटे उद्यमियों के लिए उपयोगी हो सकता है जो बहुत ही कम निवेश के साथ व्यापारिक तौर पर खुद का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं किसी भी अन्य बिजनेस की तरह से ही साबुन के बिजनेस में आप अपने प्रोडक्ट को ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों ही तरीकों से बेच सकते हैं।

आज भारत के साथ ही साथ पूरे विश्व की बहुत सी बड़ी कास्मेटिक कंपनियां लाभ कमाने के लिए इस साबुन मैन्युफैक्चरिंग बिज़नेस को कर रही हैं तो यदि आप भी व्यापारिक तौर पर बिजनेस को शुरू करना चाहते हैं तो साबुन बनाने का बिजनेस एक बहुत ही बेहतरीन व लाभदायक विकल्प हो सकता है क्योंकि इस बिज़नेस में मुनाफा अधिक तथा जोखिम कम होता है।

1. साबुन बनाने के बिजनेस में सभांवनाए –

दोस्तों किसी भी बिजनेस की शुरुआत करने से पहले आपको उस बिजनेस क्षेत्र में मौजूद संभावनाओं को देखना बहुत जरूरी होता है। तभी आपको पता लग पाएगा, कि आखिर आप जिस भी बिजनेस को करने जा रहे हैं। उसकी मार्केट में संभावनाएं कितनी है इसके अलावा उस सेक्टर में ग्राहकों को किस तरह की चीजों में ज्यादा इंटरेस्ट हैं। उस सेक्टर में कौन-कौन सी कंपनियां पहले से काम कर रही हैं, इन सभी जानकारियों को आप अपने बिजनेस रिसर्च के रूप में कह सकते हैं। तो यदि आपने भी पूरी तरह से सोच लिया है कि आप साबुन बनाने के बिजनेस को शुरू करना चाहते हैं लेकिन आपके मन में भी एक सवाल है, कि आखिर इस सेक्टर में आप कमा भी पाएंगे या नहीं तो चलिए समझते हैं।

दोस्तों यदि इस बिजनेस की मार्केट स्कोप की बात करें, तो इस व्यापार में आपके लिए असीमित संभावनाएं है। क्योंकि आज पूरी दुनिया में हर उम्र के व्यक्ति द्वारा हाथ धोने, कपड़े धोने, नहाने के साबुन के अलावा ही बहुत से साबुन का प्रयोग किया जाता है। और यह पूरे साल निरंतर चलने वाला व्यापार है जिसमें मंदी आने का कोई आसार नहीं होता है। अर्थात साबुन बनाने का बिजनेस पूरे साल चलने वाला बिजनेस है इस बिजनेस की शुरुआत आप अपने घर से भी बहुत कम निवेश के साथ कर सकते हैं। यदि आप इस बिजनेस को शुरू करना चाहते हैं तो आप बहुत सी प्रशिक्षण संस्थानों से उचित प्रशिक्षण ले सकते है जिसके बाद आप व्यापारिक स्तर पर इस साबुन बनाने के बिजनेस को शुरू कर सकते है।

2. साबुन बनाने के लिए जरूरी कच्चा माल।

किसी भी अन्य मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस की तरह ही साबुन बनाने के बिजनेस में साबुन की मैन्युफैक्चरिंग करने के लिए आपको कई तरह की जरूरी चीजों की जरूरत पड़ती है जिनकी मदद से आप साबुन को बनाते हैं अच्छी क्वालिटी के साबुन को बनाने के लिए आपको जिन भी चीज कच्चे मालों की आवश्यकता होती है उसकी जानकारी हमने आपको बता रखी है तो चलिए जानते हैं।

  • साबुन को खुशबूदार बनाने के लिए आपको कुछ खुशबूदार तेलों जैसे ताड का तेल, जैतून का तेल तथा नारियल तेल की आवश्यकता है।
  • अपने साबुन को स्किन फ्रेंडली बनाने के लिए आपको उसमें कुछ त्वचा को पोषण प्रदान करने वाली चीजें जैसे शहद, एलोवेरा, दूध मलाई चंदन इत्यादि की आवश्यकता होती है।
  • इसके अलावा मैल को खत्म करने के लिए आपको कुछ ऐसा रासायनिक पदार्थ जैसे सोडियम हाइड्रोक्साइड तथा पोटेशियम हाइड्रोक्साइड जैसी चीजों की आवश्यकता होती है।
  • साबुन को रंग देने के लिए आपको कई तरह के नेचुरल कलर की जरूरत होती है।
  • अब साबुन को अधिक खुशबू देने के लिए आपको कई तरह के पर्फ्यूम की आवश्यकता होती है।
  • साबुन बनाने के बाद आपको उसकी पैकेजिंग के लिए भी पैकेजिंग मैटेरियल की आवश्यकता होती है।

3. साबुन बनाने के लिए जरूरी मशीनें

व्यापारिक स्तर पर साबुन बनाने के लिए आपको कई तरह की मशीनों की आवश्यकता होती है जिनकी मदद के बगैर साबुन को व्यापारिक तौर पर बनाना असंभव होता है यहां हमने आपको साबुन बनाने के लिए किन-किन मशीनों तथा उपकरणों की आवश्यकता होती है उनको एक लिस्ट के रूप में बताया हैं।

  • Mixture Machine – साबुन में डाले जाने वाले सभी कच्चे मालों को मिक्स करने के लिए आपको मिक्सर मशीन की आवश्यकता होती है।
  • Soap स्टैंप मशीन – साबुन पर अपने ब्रांड की छाप लगाने के लिए इस मशीन की आवश्यकता होती है।
  • कटिंग मशीन – साबुन को विभिन्न आकार की टिकियों के रूप में काटने के लिए आपको कटिंग मशीन की आवश्यकता होती है।
  • सुरक्षा उपकरण – साबुन बनाने के दौरान आपको कई तरह के सुरक्षा उपकरणों जैसे दस्ताने तथा काले चश्मे की आवश्यकता होती है।
  • साबुन की टिकिया बनाने के बाद उसे बाजार में बेचने के लिए साबुन की पैकिंग करने के लिए एक रैपिगं मशीन की आवश्यकता होती है।

इन सभी जरूरी उपकरणों तथा कच्चे माल को खरीदने के लिए आप इन सभी चीजों को अपने शहर में मौजूद कच्चे माल तथा होलसेल हार्डवेयर की दुकानों से खरीद सकते हैं।

4. साबुन बनाने के लिए जरूरी रजिस्ट्रेशन तथा लाइसेंस

भारत में वैधानिक रूप से किसी भी बिजनेस की शुरुआत करने के लिए आपको अपने बिजनेस को लीगल एटिटीं जैसे लिमिटेड लायबिलिटी, पार्टनरशिप के रूप में रजिस्टर कराना होता है इसके अलावा भी किसी बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको कई तरह के स्थानीय विभागों जैसे नगर निगम, नगर पालिका प्रदूषण विभाग, विद्युत विभाग इत्यादि से लाइसेंस लेने की आवश्यकता होती है यदि आपने भी साबुन बनाने का बिजनेस शुरू किया है तो इसके लिए आपको निम्न जरूरी लाइसेंस तथा दस्तावेजों क्या होगी।

  • पल्यूशन कन्ट्रोल बोर्ड (Pollution Control Board) लाइसेंस कंसेंट टू एस्टेब्लिश (consent to establish)
  • कंसेट टू ऑपरेट लाइसेंस (Consent to Operate)
  • GST Number
  • क्वालिटी कन्ट्रोल (Quality Control) तथा ट्रेडमार्क पंजीकरण
  • पैन कार्ड
  • टैक्स रजिस्ट्रेशन के लिए चालू खाता (Current Account)
  • ड्रग एंड कॉस्मेटिक रूल के तहत लाइसेंस
  • उद्योग रजिस्ट्रेशन हेतु MSME पर भी पंजीकरण कराना होगा।

5. साबुन के बिजनेस में जरूरी सावधानियां

अपने कस्टमर के लिए बेहतर से बेहतर साबुन बनाने के लिए कई तरह की विशेष बातों तथा सावधानियों को ध्यान में रखना चाहिए। जिससे आप अपने कस्टमर को बिना किसी शिकायत के एक अच्छी क्वालिटी का साबुन उपलब्ध करा पाए।

  • साबुन को बनाते समय आपको इस बात का विशेष ध्यान रखना है कि आपके द्वारा बनाया गया साबुन लोगों के लिए स्किन फ्रेंडली अर्थात् उस साबुन से किसी भी तरह का साइड इफेक्ट नहीं होना चाहिए।
  • आपके द्वारा बनाए गए साबुन में उपयोग होने वाले कच्चे माल अच्छे क्वालिटी के होने चाहिए।
  • अपने उत्पाद की मार्केटिंग तथा साबुन को आकर्षक दिखाने के लिए पैकेजिंग पर विशेष ध्यान दें।
  • साबुन को बनाते समय सही आकार देना बहुत जरूरी है जिससे उसे आसानी से पकड़ा जा सके।
  • साबुन को बनाने के बाद आपको बीच-बीच में उसकी फीडबैक को लोगों से जरूर जाकर जानना चाहिए इससे आपको लोगों की जरूरत को जानने का अवसर मिलेगा।

6. साबुन बनाने के बिजनेस में जरूरी जगह व श्रमिक

साबुन बनाने के बिजनेस को सुचारू रूप से शुरू करने के लिए साबुन के बनाने में जरूरत पड़ने वाले कच्चे माल तथा जरूरी मशीनों को रखने के लिए आपको ज्यादा जगह की आवश्यकता नहीं होती है यदि आप छोटे स्तर पर बिजनेस की शुरुआत कर रहे हैं तो 200 से 300 वर्गगज जगह पर्याप्त हैं।

तथा यदि आपके घर पर इतनी जगह है तो इस बिजनेस को आप अपने घर से भी कर सकते हैं तथा जब कभी आपको अपने बिजनेस का विस्तार करना हो तो आप बड़ी जगह पर शिफ्ट करके काम कर सकते हैं और उसी के साथ बिजनेस को सुचारू रूप से चलाने के लिए आपको केवल 3-4 लोगों की आवश्यकता होती है।

7. साबुन बनाने के बिजनेस में आवश्यक लागत

किसी भी बिजनेस को शुरू करने से पहले केवल एक आईडिया का होना ही काफी नहीं होता है इसके साथ बिजनेस में जरूरी निवेश की आवश्यकता होती है तो यदि आप छोटे स्तर पर अपने खुद के साबुन बनाने के बिजनेस को शुरू करना चाहते हैं तो इसमें आपको 7 से 8 लाख तक की इन्वेस्टमेंट की जरूरत होती है यदि आपके पास निवेश के लिए इतने पैसे नहीं है तो आप सरकार द्वारा उद्योग शुरू करने के लिए उपलब्ध कराई गई लोन सुविधाओं का लाभ भी ले सकते हैं तो चलिए आगे देखते हैं इन लोन सुविधाओं के बारे में।

8. लोन की सुविधा

यदि किसी कारणवश आपके पास निवेश के लिए ज्यादा पैसे नहीं है तो इसके लिए आपको किसी भी तरह की चिंता करने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि सरकार द्वारा देश में उद्योग को बढ़ावा देने के लिए सरकार पूरी तरह से आपकी मदद करेगी। आर्थिक मदद लेने के लिए आप सरकार द्वारा जारी की गई बहुत सी लोन योजनाओं जैसे की मुद्रा योजना, स्टार्टअप इंडिया आदि की मदद ले सकते हैं इसके लोन स्कीम के तहत आपको अपनी साबुन बनाने के बिजनेस पर लगने वाली लागत का लगभग 80 फ़ीसदी सरकार द्वारा उपलब्ध कराया जाता है। इसके लिए बस आपको लोन के लिए अप्लाई करना होता है।

9. बिजनेस की मार्केटिंग कैसे करें

साबुन बनाने के बिजनेस को शुरू करके उसमें सफल होने और उससे अच्छे पैसे कमाने के लिए ब्रांडिंग और मार्केटिंग का बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान है। क्योंकि अपने प्रोडक्ट को ब्रांड बनाने तथा अपने साबुन की क्वालिटी को लोगों तक पहुंचाने के लिए ब्रांडिंग की आवश्यकता होती है। मार्केटिंग से आप अपने टारगेट लोगों जिनके अनुसार आपने अपने साबुन को तैयार किया है को बहुत ही आसानी से पहुंचा सकते हैं।

मार्केटिंग करने के लिए आपको बाजार को समझना आना चाहिए। तभी आप अपने साबुन की मार्केटिंग को ठीक से कर पाएंगे। अपने बनाए हुए हैं साबुन को लोगों तक पहुंचाने के लिए और ज्यादा से ज्यादा लोगों तक मार्केटिंग करने के लिए हम दो तरीकों online तथा offline से कर सकते हैं ।

Online मार्केटिंग कैसे करें?

यदि आप अपने साबुन के बिजनेस को ऑफलाइन के साथ-साथ ऑनलाइन भी बेचना चाहते हैं तो इसके लिए आप कई विकल्पों से अपने साबुन के ब्रांड को लोगों तक आसानी से पहुंचा पाते हैं। तो चलिए जानते इन तरीकों के बारे में।

  • सोशल मीडिया के जरिए मार्केटिंग करें
  • बिजनेस कार्ड बनवाकर
  • इंस्टाग्राम पर मार्केटिंग करे
  • बेवसाइट पर साबुन को Online सेल करें
  • सोशल मीडिया पर अपने प्रोडक्ट के ads चलाकर बेचे

Offline मार्केटिंग कैसे करें?

यदि आप अपने साबुन की मार्केटिंग को ऑफलाइन तरीके से करना चाहते हैं तो इसके लिए आप सेल्समैन रखकर उसके द्वारा दुकानों पर सेल्स करवा सकते हैं इसके अलावा आप अपने बिजनेस से जुड़ी जानकारी को न्यूज़पेपर तथा होर्डिंग की मदद से भी ऑफलाइन मार्केटिंग में कर सकते हैं जिससे लोगों को आपके साबुन के बारे में जानकारी मिल पाएगी। इसके अलावा ऐसी बहुत सी जगह है जहां पर आप अपने साबुन को आसानी से बेच सकते हैं।

  • होटल
  • हॉस्पिटल
  • बड़े – बड़े office में
  • रेस्टोरेंट तथा कैंटीनों में
  • बड़े – बड़े मेटीनेंस इंडस्ट्रीयल फैक्ट्रियों में

10. बिजनेस को सफल बनाने टिप्स

किसी बिजनेस की शुरुआत करने के बाद जब उस बिजनेस में अपनी मेहनत व समय को दे देते हैं तो अब बात आती है कि आखिर उस बिजनेस में ज्यादा से ज्यादा सफल कैसे हुआ जाए। दोस्तों कई बार ऐसा देखा गया है कि बहुत से लोगों ने अपने बहुत ही बेहतर आइडिया पर बिजनेस की शुरुआत की जिसमें शुरुआत में कुछ समय तक तो बिजनेस ने अच्छा काम दिखाया। लेकिन बाद में सही डायरेक्शन ना मिलने के कारण उस बिजनेस में वह लोग संघर्ष करने लगते हैं जिससे उनको नुकसान होता है।

तो यदि आप भी साबुन के बिजनेस को शुरुआत करके उद्यमी क्षेत्र में कदम रख रहे हैं तो इसके लिए हमने आपको कुछ ऐसे टिप्स के बारे में बता रखा है जिससे आपको इस घटना में हमेशा सफलता मिलती रहेगी। तो चलिए जानते हैं-

  • साबुन बनाने के बिजनेस को सफल बनाने के लिए मार्केट रिसर्च करना बहुत जरूरी है मार्केट रिसर्च करने से आप बाजार को ठीक तरह से समझ पाते हैं कि आखिर लोगों का इंटरेस्ट क्या है बाजार में मौजूद अन्य साबुनों की कमियां व उसके बेस्ट पार्ट क्या है ऐसी बहुत सी चीजें हैं जो आपको जाननी चाहिए। इससे आप अपने प्रतिस्पर्धा में मौजूद अन्य सभी साबुन कंपनियों के बारे में अधिक से अधिक जान पाएंगे।
  • आपको साबुन को बनाते हुए उसके मूल्य तथा आकार पर विशेष ध्यान देना होता है।
  • अच्छी क्वालिटी देकर आप लोगों को बहुत ही आसानी से आकर्षित कर सकते हैं।
  • साबुन की पैकेजिंग करते समय इस बात का विशेष ध्यान रखें। कि यह लोगों को अपनी ओर अधिक से अधिक आकर्षित कर सकें।
  • मार्केटिंग करने से आप अपने ब्रांड को लोगों तक आसानी से पहुंचा सकते हैं। इसलिए मार्केटिंग पर विशेष ध्यान दें।

FAQ

साबुन कितने प्रकार के होते हैं।

बाजार में आपको कई तरह के साबुन के प्रकार देखने को मिलते हैं जैसे नहाने की साबुन, बर्तन धोने का साबुन, कपड़े धोने का साबुन, इसी के साथ ही साथ एंटीसेप्टिक साबुन तथा डिटर्जेंट पाउडर।

साबुन का रासायनिक सूत्र क्या हैं?

मरदु साबुन का रासायनिक सूत्र (C17H35COOK) तथा कठोर साबुन का सूत्र (C17H35COONa) होता है।

साबुन में क्या मिलाया जाता है?

साबुन को बनाने के लिए तेल और वसा का इस्तेमाल होता है इसके अलावा इसमें कास्टिक सोडा तथा कास्टिक पोटाश को मिलाया जाता है।

निष्कर्ष –

आज के इस लेख हमने साबुन बनाने के बिजनेस को कैसे करना हैं। की पूरी जानकारी बता रखी है। आशा करता हूं कि आपको इस बिजनेस से जुड़ी पूरी जानकारी प्राप्त हुई होगी। और यदि आपको इस बिजनेस से जुड़ा कोई भी प्रश्न पूछना है तो आप हमें कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं हम जल्द से जल्द आपके प्रश्न का उत्तर देने की कोशिश करेंगे।

आप को ये पोस्ट कैसे लगी, कृपया कमेंट बॉक्स में जरूर बताये और इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे जो ऑनलाइन मनी के बारे में जानना चाहते है। और कमेंट बॉक्स में हमे बताये इसके बारे में और क्या जानना चाहते है। और हमारे इस Blog को फॉलो जरूर करें ताकि ऐसे ही नई नई Information आपको मिलती रहे।

Leave a Comment